Skip to content

कोटा कोविड ऐड ने कुल 5 चरणों में 300 परिवारों और 20 से अधिक आशा सहयोगियों को राशन किट व मेडिकल किट बाँटे

कोटा कोविड ऐड ने एक अभियान के अंतर्गत कोटा क्षेत्र व उसके आस पास के गाँव जैसे सरोला, किशनपुरा तकिया,डूंगरजा, निमोदा, जगपुरा, अलनिया, दाबर, मोती कुआँ, कचोलिया,उम्मेदपुरा, कंवरपुरा, कसार, तीरथ, कना, गामछ, बधाना और हनुमान बस्ती में कुल 300 जरूरतमंद परिवारों व 20 से अधिक आशा सहयोगियों को आवश्यक राशन किट व मेडिकल किट पहुँचाए।

दूसरी लहर के चलते शहरों के बाद तेजी से गाँव भी कोरोना महामारी के चपेट में आने लगे थे इस समस्या को लेकर कोटा कोविड ऐड के युवा सदस्यों ने गाँवो में मदद पहुँचाने के लिए एक अभियान शुरू किया जिसमें कोटा के आस पास के क्षेत्रों में कई गाँवो के परिवारों और आंगनबाड़ी के आशा सहयोगियों तक कोरोना के इलाज के लिए ज़रूरी मेडिकल किट व उपकरण पहुँचाये गये और संकट की इस घड़ी में सूखा राशन भी दिया गया।

मिलाप प्लेटफॉर्म पर जन सहयोग के जरिये एकत्रित की गयी है राशि।

इस अभियान के अंतर्गत एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ‘मिलाप’ पर जन सहयोग के माध्यम से 3,00,000 से अधिक रुपए एकत्रित किये गए।

विभिन्न संस्थाऐं मदद के लिए आगे आईं

कोटा कोविड ऐड के साथ इस अभियान में जुड़कर कई संस्थाओं ने भागीदारी निभाई। सचेतन संस्था के माध्यम से डोनेशन करने वालों को टैक्स में राहत मिली, सैफ एंड हैप्पी पीरियड्स ने सैनिटरी नैपकिन, घर की रसोई ने मास्क, के 1 हेल्थ केयर ने अतिरिक्त राशन उपलब्ध कराया व रक्तवीर समूह ने ज़रूरतमंद परिवारों को ढूँढने में मदद की। 

इस तरह से पहुँचाई गयी मदद

टीम के सदस्यों द्वारा गाँवों के सरपंचो व आंगनबाड़ी सहायकों के साथ मिलकर ज़रूरतमंद परिवारों की सूचियाँ तैयार की गयी और उनकी उपस्तिथि में ही राशन व मेडिकल किट उपलब्ध कराये गए। 

अब गाँवों तक पहुँचा रहे हैं मदद

कोटा के युवाओं की इस टीम ने पाया कि कोटा के आस-पास के गाँव कोरोना से तेजी से प्रभावित हो रहे हैं और वहाँ जागरुकता, संसाधनों व मेडिकल सुविधाओं की अत्यधिक कमी है। इसलिए डॉक्टर्स और स्थानीय अधिकारियों की सलाह से ये किट बनाये गए हैं। इन राशन व मेडिकल किट में सहायता किट, सूखा राशन, ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, एन 95 मास्क, फेस शील्ड, सैनिटाइजर व सेफ एंड हैप्पी पीरियड्स द्वारा अनुदानित सैनिटरी नेप्किंस के सहित मूल भाषा में एक पुस्तिका प्रदान करके मदद की गयी। पुस्तिका में आवश्यक सावधानियाँ, आपातकालीन नंबरों की सूची और आयुष मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा सुझाए गए घरेलू उपचार समझाये गयें हैं । 

क्या है कोटा कोविड ऐड? 

कोटा कोविड ऐड युवाओं द्वारा की गयी एक पहल है जिसकी शुरुवात अप्रैल माह में कोरोना की दूसरी लहर के चलते लोगों की मदद करने के लिए की गयी। इस पहल के अंतर्गत इस समूह ने कोटा में कोविड से प्रभावित लोगों की मदद के लिए एक डेटाबेस तैयार किया और शहरवासियों को कोविड के इलाज से संबंधित सही जानकारी उपलब्ध करवाकर, उचित माध्यमों तक जोड़ने की हर संभव कोशिश की। 

ऑनलाइन इवेंट सीरीज़ आशा की गुहार के जरिये इकट्ठी की धन राशि। 

इंस्टाग्राम, फेसबुक व ज़ूम प्लेटफॉर्म पर आशा की गुहार इवेंट सीरीज में कोटा के कई बेहतरीन कलाकारों ने लाइव संगीत, डांस, जुम्बा, कैलिग्राफी और स्टॉक मार्केट की वर्कशॉप के जरिये लोगों से कोटा कोविड ऐड के इस अभियान में अपना सहयोग करने की अपील की। 

ये युवा दे रहे हैं अपना योगदान

ऑनलाइन माध्यम के जरिये जुड़कर ये युवा रात दिन इस अभियान के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। कोटा की दृष्टि आहूजा,आरव, दिव्या परियानी, शिवानी जैन,विभोर अग्रवाल, अनन्य खंडेलवाल, वंशिका सिंह, जूही गोधा, श्रेयांश जैन, अंजेश अग्रवाल, इति गुप्ता, अमित गोयल,नरेश दाधीच, मयंक जैन,भुवन मलिक और निकिता पांडेय पूर्णतः अपना योगदान दे रहे हैं। 

Email – kotacovidaid@gmail.com

Categories

Experiences

Nikita Pandey View All

Soft skills trainer and a passionate writer!

Leave a Reply

%d bloggers like this: